Kapalbhati- स्वस्थ और निरोगी जीवन जीने का एक बहुत ही आसान तरीका

No Comments

स्वस्थ और निरोगी जीवन जीने का एक बहुत ही आसान तरीका-Kapalbhati

Kapalbhati Kaise Kare & Benefits

दोस्तों,  कपालभाती(Kapalbhati) एक बोहोत प्रचलित योगा प्राणायाम है जिसको नियमित करने से आप सभी रोगों से मुक्त रहते है और जो रोग आपके सरीर में पहले से है उनको ठीक करने में काफी उपयोगी है , रोज ३० मिनिट के योग से आप अपनी लाइफ  को स्वस्थ और निरोगी बना सकते है कपालभाती(Kapalbhati) को जीवन की संजीवनी कहा जाता है। कपालभाती प्राणायाम को सबसे कारगर माना जाता है कपालभाती प्राणायाम करने के सही तरीके और इससे होने वाले फायदों के बारे में हम आपको बताते हैं। (Kapalbhati Kaise Kare Aur Uske Fayde)

विधि / Kapalbhati Procedure

  1. एक समान, सपाट और स्वच्छ जगह जहा पर स्वस्छ हवा हो वहा पर कपड़ा बिछाकर बैठ जाए।
  2. आप सिद्धासन, पदमासन या वज्रासन में बैठ सकते है। आप चाहे तो आपको जो आसन आसान लगे या आप हमेशा जैसे निचे जमीन पर बैठते है उस तरह बैठ जाए। 
  3. बैठने के बाद अपने पेट को ढीला छोड़ दे। 
  4. अब अपने नाक से सांस को बाहर छोड़ने की क्रिया करे। सांस को बाहर छोड़ते समय पेट को अंदर की ओर धक्का दे। 
  5. श्वास अंदर लेने की क्रिया करने की जरुरत नहीं है। इस क्रिया में श्वास अपने आप अंदर लिया जाता है।  लगातार जितने समय तक आप आसानी से कर सकते है तब तक नाक से श्वास बाहर छोड़ने और पेट को अंदर धक्का देने की क्रिया को करते रहे। 

2 Minit Me Kapalbhati Pranayama Sikhe- https://youtu.be/qwPFCPKp9ZQ

लाभ / Kapalbhati Benefits 
  1. वजन कम / weight loss होता है। भारत में ऐसे कई लोग है जिन्होंने कपालभाती से अपना 30 से 40 किलो वजन काम किया है। 
  2. पेट की बढ़ी हुई अतिरिक्त चर्बी कम होने में सहायक है। यह आपके कमर के आकार को फिर से सामान्य आकार में लाने में मदद करता है। 
  3. चेहरे की झुर्रिया और आँखों के निचे का कालापन दूर कर चेहरे की चमक फिर से लौटाने में मदद करता है। गैस, कब्ज और अम्लपित्त / Acidity की समस्या को दूर भगाता है। 
  4. शरीर और मन के सारे नकारात्मक तत्व और विचारो को मिटा देता है।   
  5. स्मरणशक्ति को बढ़ाता है। 
  6. कफ विकार नष्ट होते है और श्वासनली की सफाई अच्छे से होती है। 
  7. इस क्रिया से रक्त धमनी की कार्यक्षमता बढाती है और बढ़ा हुआ cholesterol को काम करने में मदद होती है। कपालभाती करने वक्त पसीना अधिक आता है जिससे शरीर स्वच्छ होता है।

Dear readers, after reading the Content please ask for advice and to provide constructive feedback Please Write Relevant Comment with Polite Language.Your comments inspired me to continue blogging. Your opinion much more valuable to me. Thank you.